50 बहुजन नायक

(24 customer reviews)

150.00

 

लेखक: अशोक दास एवं डॉ. पूजा राय
प्रकाशक: दास पब्लिकेशन
पृष्ठ  : 138

24 reviews for 50 बहुजन नायक

  1. अमित गोंड़

    हम बहुजन लोगों को यह पुस्तक एक बार जरुर पढना चाहिये

  2. sonu das

    must read book

  3. raipuja16

    Good Initiative.

  4. सिद्धार्थ गौतम

    बहुजन साहित्य की शानदार किताबों में से एक।

  5. सिद्धार्थ गौतम

    बहुजन साहित्य की शानदार किताबों में से एक

  6. कबीर

    हर नायक के बारे में इसमें जाकारी है। बहुत बढ़िया पुस्तक है।

  7. Raj Kumar

    Nice Book, Good Collection.

  8. ashok kumar

    Nice Book. Every one should read this book.

  9. Harmesh Manav Advocate

    किताब का टाइटल अच्छा लेकिन पेज बहुत कम। जय भीम

  10. Chhotey lal kureel

    Good book

  11. एस पी सिंह अंबेडकरवादी

    सर मैं हर हालत में यह पुस्तक पढ़ना चाहता हूं मैं इस को हां पुस्तक कैसे प्राप्त करूं मुझे इसके लिए क्या करना होगा प्लीज सर मुझे बताएं क्योंकि मैं भी समाज के प्रति जागरूक करना चाहता हूं

  12. Deepak kumar das

    All books superb

  13. Ransingh Khichi

    Mujhey chaiye

  14. Devendra Kumar Tripathy

    बहुत ही उम्दा

  15. Puja

    Content in this book is very knowledgeable

  16. राज कुमार

    बहुत अच्छी किताब है। सबको पढ़नी चाहिए। बच्चों के लिए बहुत ज्यादा उपयोगी। उन्हे इस किताब के माध्यम से अपने महापुरुषों के बारे मे जानकारी होगी।

  17. NeerajKishor

    Good

  18. सुरेंद्र जजानिया अंबेडकर

    Sir I want to purchase this book , how I can receive in earlist, a holy book

  19. Rahul Gautam

    बहुत ही शानदार किताब है

  20. Kaushal Kant Bauddha

    कूपन कोड क्या है इस बुक को परचेस करने में हमारी सहायता करें

  21. Dharmendra Kumar

    Sir mujhe chahiye

  22. समीर सैयद

    वामपंथियों ने सबसे बढ़िया काम तो रंवाडा में किया है, ऐसा ही भारत में करना चाहते हैं, समय जरूर लगेगा लेकिन एक दिन जातियों, धर्म, मजहब गृहयुद्ध जरूर होगा और देश पर सिर्फ मुस्लिमों का राज होगा, पाकिस्तान और बांग्लादेश की तरह दलितों-आदिवासियों का समूल नाश होगा

  23. समीर सैयद

    जोगिन्दर नाथ मण्डल तो याद ही होगा

  24. prem Sing Sehrawat

    1. I would like purchase this book ( 50 bahujan nayak)
    2. I am English typist
    3. I would like add my contribution through typing to wake up my indian bahujan
    4. I am ambedkarbadi

Add a review

Your email address will not be published.